Durga Chalisa

Lyrics of Durga Chalisa

Durga Chalisa
नमो नमो दुर्गे सुख करणी नमो नमो अम्बे दुःख हरानी
निराकार है ज्योति तुमहारी तिहुँ लोक फली उजियारी
शशि ललाट मुख महा विशाला नेत्र लाल भृकुटि विकराला
रूप मातु को अधिका सुहाव दरस करत जन अति सुख पावे
तुम संसार शक्ति लया किना पलन हेतो अन्ना धन दीना
अन्नपूर्णा हुई जग पाल तुमि आदि सुंदरी बाला
प्रलय कल सब नाशन हरि तुम गौरी शिव-शंकर प्यारे
शिव योगी तुमरे गुन गावें ब्रह्मा विष्णु तुमहिं नित ध्यान
रूप सरस्वती को तुम धरा दे सुबुद्धि ऋषि मुनीना उबारा
धरयो रूप नरसिम्हा को अंबा प्रगट भयरा
परस बचायो हिरणाकुश को स्वराग पठायो
लक्ष्मी रूप धरो जग माहिं श्री नारायण अंग समाहिं
क्षीर सिंधु मुख्य करत विलास दै सिंधु दीजे मन अस
हिंगलाजा मुख्य तुमहिं भवानी महिमा अमित न जात बखानी
मातंगी धूमावती माता भुवनेश्वरी बगला सुखदाता
श्री भैरव तारा जग तरनि छिन्न भव भव सुख निवारनि
केहरि विहान सो भवानी लंगूर वीर चलत अगवानी
कर मेन खप्पर खड़ग विराजे जाको देख काल दर भजे
सोहे अस्त्र और त्रिशूल जसे उत्थ शत्रु हिय शूल
नगरकोट मुख्य तुमि विराजत तिहुँ लोक मुख्य डंका बाजत
शुम्भ निशुम्भ दनुज तुम मारे राखे-बीजा शंखन अबरी माही
रूप कराल कालिका धारा सेन सहिता तुम तिन समारा
परी गढ़ संतान पर जब जाबे भया सहमातु तम तब ताब
अमरपुरी अरु बसव लोका तव महिमा सब रहैं अशोका
ज्वाला मुख्य है ज्योति तुमहारी साधना पूजन नर नारी
प्रेम भक्ति से जो याह दुखे-दरिद्र निकत नट अवे
ध्याव तुमन जो नर मन लई जनम-मरन ताको छुटि जाई
जोगी सुर-मुनि कहत पुकारी जोग न हो- बिन शक्ति तुमहारी
शंकर आचारज नल कीन्हों काम क्रोध जेत सब लीन्हों
निसिदिन ध्यान धरो शंकर को कहु काल नहिं सुमिरो तुम को शरम
रूप मूप न आयो षक्ति
गै टैब मन पछत्यो शारनगत होइ कीर्ति बखानी जय जय जय जगदम्ब भवानी
भये प्रसन्ना आदी जगदंबा दया शक्ति न कीं विलम्बा
मोकोन मातु काष्ट अती घरो तुम बिन कौन हरे दुःख मेरो
आषा तृष्णा नित सतवने मोह मदादिक सब बिनसेवन
शत्रु नाश कीजे महारानी सुमिरोन एकचिता तुमन भवानी
करौ कृपा हे मातु दयाला ऋद्धि-सिद्धि दे करहु निहाल
जब लगि जियौं दया फाल पूँछ तुम्हारो यश माई सदा सुनौं
दुर्गा चालीसा जो गावे सब सुख भोग परमपद पावे
'देवीदास' शरण निज जानी करहु कृपा जगदम्ब भवानी

How to Use:- Take good bath, be calm for mind, lighten the lamp of mustard oil, offer some yellow sweets, lotus flowers, and start reciting the Durga chalisa. Recite the Chalisa in morning, best time is before 6:00 AM.

Chalisa


Wallpapers

© Copyright 2013 | All Rights Reserved | www.bhagvanpics.com